शिव कौन है ?

शिव  कौन  है

शिव  कौन  है  ? 

भारत देश 33 करोड़ देवी देवताओं का  देश है ! परन्तु इन सभी देवाताओं को बनाने वाला  एक   ही  परमपिता  परमात्मा  शिव  है  ! जिसकी  अनेक  धर्मो ,  अनेक  रूपों  में भले  ही पूजा  की  जाती  हैं !  परन्तु  उसका  केन्द्र  बिन्दु परमात्मा  शिव  के   पास    ही   जाकर  समाप्त  होता है ! 

परमात्मा शिव देवों के भी देव महादेव  ब्रह्या , विष्णु , शंकर   के  भी   रचयिता  त्रिमूर्ति  तीनों   लोकों  के   मलिक  त्रिलोकीनाथ ,  तीनों कालों को जानने वाले त्रिकालदर्शी है ! विश्व  की सभी आत्माओं के परमपिता परमात्मा शिव है !

परमात्मा जन्ममरण से न्यारे है उनका जन्म नहीं होता बल्कि परकाया  प्रवेश  होता है ! परमपिता शिव  अजन्मा हैं , अभोक्त्ता ,  ज्ञान के  सागर  है  आनन्द  के  सागर  है , प्रेम  के सागर है , सुख के सागर है ( Ocean  of  all  virtues ) ! 

शिव का अर्थ

उनका स्वरूप ज्योतिर्बिन्दु है ! परमात्मा शिव परमधाम का  निवासी  है  !  शिव........  का  अर्थ   ही   है    " कल्याणकारी " ! परमात्मा शरीरधारी नहीं है ! इसका   मतलब   ये   नहीं    कि    उनका   कोई  आकार नहीं ! बल्कि  स्थूल  आँखों  से न दिखने वाला  सूक्ष्म  ज्योति  स्वरूप  है ! परमात्मा शिव को सभी  ग्रंथों , पुराणों और वेदों में भी सर्वोपरी ईश्वर माना गया हैं !

परमात्मा का ज्ञान और राजयोग के लिए मुफ्त कोर्स

परमात्मा और स्वयं आत्मा के ज्ञान को विस्तार पूर्वक जानने और परमात्मा से सम्बन्ध यानि योग की कला 'राजयोग' सीखने  और अध्यात्मिक ज्ञान के फ्री कोर्स के लिये आप निम्न "अध्यात्मिक सेवा केन्द्रों" पर भी संपर्क कर सकते है.

शिव कौन है ? Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kheteshwar Boravat

0 Comments:

एक टिप्पणी भेजें