हिन्दी में ब्लॉग कैसे बनाएँ :

हिन्दी में ब्लॉग कैसे बनाएँ ? यह जानने के लिये यहां जायें ।



Post a Comment



हिन्दी में ब्लॉग कैसे बनाएँ : Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kheteshwar Boravat

2 Comments:

  1. जनसुनवाई- मंगलवार 25 जून 2013 आलीराजपुर
    प्रति,
    श्रीमान् पुलिस अधीक्षक महोदय जी
    जिला कार्यालय- आलीराजपुर (म.प्र.)

    आवेदक नाहरसिंह पिता केरिया मुवेल, निवासी- ब्लॉक कॉलोनी, उदयगढ़ (कनास)

    अनावेदक
    1. सुनील पिता दुला अजनार, निवासी- ब्लॉक कॉलोनी, उदयगढ़ (कनास)
    2. मनीष पिता कुवरसिंह जमरा, निवासी- ब्लॉक कॉलोनी, उदयगढ़ (कनास)
    3. माधु पिता मुकामसिंह जमरा, निवासी- ब्लॉक कॉलोनी, उदयगढ़ (कनास)
    4. राकेष पिता अज्जु जमरा, निवासी- ब्लॉक कॉलोनी, उदयगढ़ (कनास)
    5. बबीत पिता उदिया जमरा, निवासी- ब्लॉक कॉलोनी, उदयगढ़ (कनास)
    6. प्रविण रावत उर्फ कुन्नु, ’सरपंच’- निवासी ग्राम पंचायत कानाकाकड़

    विषय- अनावेदको द्वारा आवेदक की लड़की को अगवा करने, उदयगढ़ पुलिस द्वारा रुपए लेकर मामला रफादफा करने और इसके बाद अनावेदको द्वारा दुसरी मर्तबा पुनः आवेदक की लडकी को भगा ले जाने की षिकायत एवं उचित कार्रवाई का निवेदन बाबद।

    महोदय,
    उपरोक्त विषय में मुझ आवेदक का आप श्रीमान् जी से निवेदन है कि -
    1. अनावेदक 15 दिवस पहले मुझ आवेदक की लड़की ’’रेषमी’’ को ग्राम दौलतपुरा के एक विवाह समारोह से बलपूर्वक भगा कर ले गए थे। उदयगढ़ पुलिस थाने में मैने षिकायत दर्ज करवाई थी। मुझे षिकायत की एक प्रति नहीं दी गई।
    2. घटना के पांच दिन बाद मैं एवं परिजनो ने अनावेदक सुनील पिता दुला अजनार को खोज कर अगवा रेषमी सहित उदयगढ़ पुलिस थाने में प्रस्तुत किया।
    3. उदयगढ़ थाना प्रभारी के समक्ष रेषमी ने बयान दिए कि सुनील ने पत्नी बनाने के लिए अपने साथियो की मदद से उसे जोर-जबरन अगवा किया और गलत काम किया जबकि वह सुनील की पत्नी नहीं बनना चाहती ।
    4. थाना प्रभारी ने लडकी रेषमी के बयान उपरांत भी अनावेदको पर कोई कार्रवाही नहीं की, अनावेदको से मोटी रकम लेकर उन्हे छोड़ दिया। मुझ आवेदक से भी थाना प्रभारी जीया उल हक ने 20.000 बीस हजार रुपए लिए और तब मुझे मैरी लडकी रेषमी को सोपा। 20.000 रुपए मैने मैरे ससुराल वालो से उघार लेकर थाना प्रभारी को दिए।
    5. बिते सोमवार 17 जून को मुझ आवेदक ने रेषमी का विवाह उसकी एवं घर परिवार की राजी मर्जी से ग्राम चापरी (रानापुर) निवासी समरत पिता थावरिया अजनार से कर दिया।
    6. रविवार को अनावेदक सुनील अजनार अपने साथी प्रविण रावत उर्फ कुन्नु, ’सरपंच’- निवासी ग्राम पंचायत कानाकाकड़ और उसकी 10-12 लोगो की गेंग को लेकर ग्राम चापरी पहुंचा और रेषमी को उसके ससुराल से जोर जबरन उठाकर ले गया। बिच बचाव करने आए ननद रेलम और उसके पति पर अगवाकर्ताओ ने हमला भी किया। अगवा करने में प्रविण रावत की तुफान जीप का इस्तेमाल किया गया।

    श्रीमान जी यदि समय रहते उदयगढ़ पुलिस अनावेदको पर उचित कार्रवाई करती तो अनावेदको के हौंसले बुलन्द नहीं होते, रेषमी ने हाल ही में 9वी उत्तीर्ण की थी और वह आगे पढाई करना चाहती थी। अनावेदक पक्ष द्वारा रेषमी का अपहरण, उसके साथ गलत काम के बाद और कोई जग-हंसाई बाली बात होती इससे पहले आए हुए रिष्ते को हमने स्विकार किया ओर रेषमी का विवाह कर दिया। तब भी दबंगाई दिखते हुए अनावेदको ने रेषमी का उसके ससुराल से पुनः अपहरण कर लिया। श्रीमान् जी उक्त पुरे प्रकरण में अनावेदको के साथ में उदयगढ़ थाना प्रभारी की भूमिका भी बराबर की ही रही है।
    अतः आप श्रीमान् जी से मुझ गरीब लाचार और बेबस आवेदक का करबद्ध निवेदन है कि अनावेदको के साथ ही उदयगढ़ थाना प्रभारी के विरुद्ध त्वरित एवं ठोस कार्रवाई करने की कृपा करें जिससे किसी दूसरी रेषमी की जिंदगी तबाह न हो।


    आवेदक
    नाहरसिंह पिता केरिया मुवेल, निवासी- ब्लॉक कॉलोनी, उदयगढ़ (कनास)

    उत्तर देंहटाएं
  2. Mahanagar me Ya kisi Bade shahar me aisi Vardaat hui hoti to Hangama ho Jata.....Gramin kshetra me Janpratinidhiyon Or Adhikariyon Ki Milibhat ( Arthik Sadbhavna) ke karan Press ne Bhi chuppi sadh rakhi hai... kYo ki Jaan Hai To Jahan Hai....

    उत्तर देंहटाएं