Whatsapp पर आ रहे स्‍कैम मैसेज से बचने के लिए आसान टिप्‍स

आजकल टेक्नोलोजी का जमाना है। कोई किसी से पीछे नहीं। और हमें बेवकूफ बनाने वाले भी कम नहीं है। जैसे जैसे सोशल साइट्स का क्रेज बढा है वैसे ही क्रेज आनलाइन माध्यम से सामान खरीदने की वेबसाइटों का भी बढा है। और इसी चीज का फायदा हैकर्स उठा लेते हैं।

क्योंकि वे मैसेज के द्वारा लोगों को उनकी जानकारियां देने के लिए मजबूर कर देते हैं। इसका कारण है दिखाये जाने वाले ऑफर। आपने भी जरूर देखा होगा कि आपके वाट्सऐप पर और फेसबुक पर पता नहीं ऐसे कितने प्रकार के मैसेज आते होगे। ऐसे मैसेज को स्‍कैम मैसेज बोलते हैं। और ये बहुत ही ज्यादा आपकी जानकारी चूरा हासिल कर लेते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे ही मैसेज से कैसे दूर रहें और कैसे इनको पहचाने। यहां पर आपको कुछ टिप्स दी जा रही हैं।

1. हैकर्स के लिए आपकी जानकारी चूराने के लिए सबसे बडी चीज आपका वाट्सऐप ही है। आपको दिन के पता नहीं कितने सारे ग्रुप में मैसेज आते होंगे। जिनमें से बहुत सारे तो बहुत ज्यादा सस्ते ऑफर के होते हैं।

इसके अंदर कंपनी के कपडे या मोबाइल होते हैं। इससे बचने के लिए टिप्स यही है की जब भी ऐसे मैसेज दिखे तो देखें की क्या उनके लिंक्स साधारण लिंक से मेल खाते हैं या नहीं। क्योंकि स्पैम मैसेज में पूरा लिंक होने के बाद डोमेन लगाया मिलता है। अगर ऐसा दिखे तो तुरत डिलीट कर रहा दे।

2.  जब भी आपके पास कोई ऐसा मैसेज आता है। तो आप उनके शब्‍दों की परख जरूर कर ले। ताकि आप समझ सके की कौन-सा नकली है। जिस मैसेज के अंदर कोई पूरा लिंक ही एक लाईन में हो और बाद में .in या .com हो तो उन पर क्लिक ना करें।

3. कभी भी किसी भी प्रकार के गलत लिंक को ग्रुप में शेयर ना करे और ना ही करने दें।

4. आपको उस ऑफर को रियल ऑफर से कम्पेयर जरूर करे ले बिना उसे खोले की क्या कोई इतना ऑफर दे सकता है। और उसको डिलीट कर दे।

5. बहुत बार आपको ऑफर में पूरी गारंटी भी दी जाती है। यानी की यह विश्वास भी दिलाया जाता है की वह चीज वाकई में इतनी सस्ती है। अगर आपको कोई वादे वाली स्पैम मैसेज दिखे तो उसको तो तुरत ही डिलीट सर दे।

6. कभी भी ऐसे मैसेज का रिप्‍लाई ना करें। ना ही अपनी किसी भी प्रकार की जानकारी शेयर करें। ऐसे ग्रुप को तुरत ही छोड दें जिसमें स्पैम मैसेज ज्यादा आते हों।

Whatsapp पर आ रहे स्‍कैम मैसेज से बचने के लिए आसान टिप्‍स Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Mukesh Sharma

1 Comments: