सुगर का इलाज, परहेज और सुगर कंट्रोल

शुगर की बीमारी - इलाज
भारत में बहुत सारे लोगों  को सूगर है। एक रिसर्च के अनुसार आने वाले कुछ सालों में ये ओर भी ज्यादा लोगो को होने की ये सम्भावना है। और लगभग हर 5 मिनट में एक व्यक्ति सुगर के कारण मर रहा है। सुगर यानी मधुमेह रोग या फिर इसे आप चीनी की बीमारी बहुत ही खतरनाक रोग है। अगर इसका इलाज ना किया जाये। आपको बता दे की सुगर की बीमारी कोलेस्ट्रोल के बढने के कारण होती है। इस  बीमारी में हमारी आँखों, मस्तिष्क और गुर्दे के हानिग्रस्त होने से हमारा खतरा बढ जाता है।


सुगर की बीमारी - क्या है ?

डायबिटीज या मधुमेह उस चयापचय बीमारी को कहा जाता है, जहाँ व्यक्ति जिसमे व्यक्ति के खून में शुगर (रक्त शर्करा) की मात्रा जरुरत से ज्यादा हो जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्यों कि या तो व्यक्ति से शरीर में इन्सुलिन का उत्पादन प्रयाप्त मात्रा में नहीं हो रहा हो या वह व्यक्ति के शरीर की कोशिकाएं से सही व्यवहार नहीं कर रही हो। 

जब तक सुगर की बीमारी का असली कारण नही जान लेते तब तक यह रोग कभी भी ठीक नहीं होगा। जब शरीर में कोलेस्ट्रोल की बढत बढती है तो वो हमारी कोशिकाओं में जाकर उनके चारो ओर चिपक जाता है। और  हमारे रक्त में विद्यमान इन्सुलिन हमारी कोशिकाओं तक सही तरीके नही पहुँच पाता। इसके लिए हमें इन्सुलिन के टिके लगवाने पडते हैं। कहने का ये मतलब है कि सुगर का सम्बन्ध कोलेस्ट्रोल से होता है  ना की शुगर (चीनी) से। 


इस पर अधिक जानकारी के लिए आप निम्न विकिपीडिया लिंक पर जाएँ:
https://hi.wikipedia.org/s/1l9

रक्त में शुगर की मात्रा की जांच

सुगर की बीमारी के लक्षण क्या है?

डायबिटीज के प्रमुख लक्षण निम्न है:
  1. लगातार पेशाब आना
  2. जरुरत से अधिक प्यास लगना 
  3. हमेशा तीव्र भूख लगना 
  4. वजन का असामान्य रूप से लगातार बढ़ते जाना 
  5. वजन का असामान्य रूप से लगातार घट जाना 
  6. जल्दी और ज्यादा थकावट हो जाना 
  7. चिड़चिड़ापन
  8. दृष्टि धुंधली होना 
  9. शरीर के कट और घाव ठीक या जल्दी ठीक न होना 
  10. अधिक त्वचा और / या खमीर संक्रमण
  11. त्वचा में खुजली
  12. मसूड़ों लाल और / या सूजी हुई हैं - मसूड़ों दांत से दूर खींचे 
  13. लगातार मसूढ़े की बीमारी / संक्रमण
  14. पति पत्नी आपस में सम्भोग करते समय बहुत ज्यादा तकलीफ
  15. झुनझुनी , विशेष रूप से अपने पैरों और हाथों में
उपरोक्त एक से ज्यादा लक्षणों का एक साथ होना, सुगर की बीमारी का लक्षण हो सकता सकता है, ऐसा होने पर तुरंत किसी अच्छे चिकित्सक से परामर्श लें। 


क्या करे अगर सुगर हो जाये तो?

जब कभी किसी व्यक्ति को सुगर होती है तो हम इन्सुलिन का प्रयोग करने लगते है लेकिन ज्यादा इसका प्रयोग बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है।  इसके साइड इफ्ट भी ज्यादा होते हैं।

अगर आप इसका इलाज करना चाहते हैं तो आपको आयुर्वेद का सहारा लेना होगा क्योंकि अंग्रेजी दवा केवल इसको कंट्रोल कर सकती है खत्म नहीं कर सकती। लेकिन आयुर्वेदिक दवा इसे बिलकुल खत्म कर सकती है। अगर इसके परहेज रखें जाये तो। 

शुगर की बीमारी की एक बहुपयोगी दवा

इसे आप इस्तेमाल करें 

आप घर में मेथी का उपयोग करते है तो आप 100g उसे लेकर सूरज की धूप में सूखा ले। फिर बाद में मेथी के दानों को अच्छी तरह से पीस ले। पीसने के बाद इसका पाउडर बना लें। 100g  तेज पत्ता लेके उसको भी पीस कर पाउडर बना ले। जितनी मात्रा बताई है उतनी इस्तेमाल करें।  अब  150-155g जामुन के बीज को पीस ले। इसका भी पाउडर बना ले। और इसके साथ ही 250g बेलपत्र को भी पीस ले। पीसने के लिए आप पत्थर का इस्तेमाल करे तो सही होगा। अब इन सभी औषधियों के पाउडर को आपस में अच्छी तरह से मिला ले। मिलाने के बाद आपकी दिव्य औषधि तैयार हो गयी। आप इसको खाली पेट सुबह और शाम 1-1.5 चम्मच खाने से एक घंटे पहले गुनगुने पानी के साथ ले लें। सुबह रिफ्रेस होके ले ले। इस दवा को आप 2-3 महीने तक लेते रहें क्योंकि आयुर्वेदिक दवा अपना असर दिखाने के लिए कुछ समय लेती है। 

अगर आप इसका असर जल्दी देखना चाहते है तो आपको एक काम ओर करना होगा। अगर वो काम आप 4-5 दिन लगातार  कर लेगे तो आपकी सुगर की शिकायत दूर हो जायेगी। 
वो काम है गौ मूत्र का उपयोग करना। अगर आप ताजा देशी गाय के मूत्र का उपयोग करे तो आपकी सुगर के साथ साथ बाकी की बिमारियां भी दूर हो जायेंगी। ओर आप त्रिफला चूर्ण का प्रयोग भी कर सकते हैं। त्रिफला में तीन फल होते हैं। हरड़, बहेडा और आंवला। आप इन तीनों का 1:2:3 के अनुपात का प्रयोग करें। इनके पाउडर को रात को पानी के साथ 1.5 चम्मच ले लें। 

madhumeh me Khaanpaan

सुगर में क्या क्या सावधानी रखें? 

  • सुगर के लिए पहली सावधानी तो चीनी युक्त पदार्थों का उपयोग बिलकुल ना के बराबर करें। 
  • नियमित रूप से व्यायाम, प्राणायाम, योग इत्यादि करें 
  • बाजार में सुगर फ्री गोलियां चली हुई हैं,  कृपा करके उनका इस्तेमाल बिलकुल ना करे। प्रकृति की बनायी हुई चीजों का सेवन करें। 
  • चीनी की जगह गुड़ का प्रयोग करें। 
  • जब भी आप रात को भोजन करें तो आप भोजन को सूर्य के अस्त होने से पहले करें। बाद में भोजन ना करे तो अच्छा होगा। 
  • रेशेदार सब्जियों का सेवन करे। 
  • कम कैस्ट्रॉल वाली चीजों का इस्तेमाल करें तो आप सुगर से बच सकते है। 

ये जानकारी मैंने बहुत ही खोजबीन करके लिखी है आप इस वैसे ही ना समझे। अगर किसी को भी सुगर है तो आप उसे इसके बारे में जरूर बतायें। 


सुगर का इलाज, परहेज और सुगर कंट्रोल Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kheteshwar Boravat

1 Comments: